Category: Song

Ratna 0

Swachh Bharat Abhiyan Song and Poem (स्वच्छ भारत अभियान गाना व कविता)

  लेखिका: रत्ना (Ratna) झलक रही सुंदरता हिंद की, बिना किये सृंगार। सुन्दर-सुन्दर वादियाँ इसकी,करते हम झरनों से प्यार।।   झरनों से निकली नदियाँ,कल-कल नदियाँ निकली। जग ने ऐसा प्यार दिखाया-2 होती गयी ये...