Category: Uncategorized

screenshot_2016-10-17-10-37-58_1476697800190 0

piya tum kahan the (पिया तुम कहाँ थे)

गीतकार: – रत्ना पिया तुम कहाँ थे जब मैंने पुकारा, थी खोई डगरिया न कोई सहारा । नज़र कुछ न आया गिरी लड़खराकर, लगा जैसे अब न मिलेगा किनारा।।          ...