Tagged: Acid Attack Poem in Hindi

screenshot_2016-10-26-17-34-15_1477555461619 0

दर्द तेजाब का (dard tezab ka)

  कवित्री – रत्ना दर्द को पीकर बहने बेटी, जीने को संघर्ष करे। माफ़ करू कैसे मैं उसको, जो सबकी जीवन भंग करे।। क्यों बैठे हम देख रहें सब, समझे न क्यों उसका दर्द।...

acid-attack-poem-in-hindi 0

Acid Attack Poem in Hindi (फेंक एसिड जलाकर मुझको)

Lyrics: Ratna फेंक एसिड जलाकर मुझको, जिए जाओ तुम शान से। नहीं सजा कोई देने वाला, इतराओ गुमान से।।   देश बना गुंडों का घर है, हर पल यहाँ कोई लुटती है। कभी एसिड...