Tagged: Tanha Ghazal

Is Jahan me 0

Is Jahan Me Ghazal (इस जहाँ में)

Lyrics: Ratna आज हूँ मैं खड़ी इस कदर इस जहाँ में, न साथी न कोई हमसफ़र है हमारा । सपने लिए चल पड़ी थी हज़ारों, नहीं था ख़बर क्या होगा मेरा आगे । बहुत राह देखी...

Raat hai Tanha 0

Raat hai Tanha Ghazal (रात है तनहा)

Lyrics: Ratna Singer: Ratna रात है तनहा, दिन है सुना। दिल में कोई तो, बात है ।।   नम हैं आँखें, हँसी लवों पे। गहरी बहुत, ये राज है ।।   चंचल थी और, कभी हसीं मैं।...